कभी लोगों ने काली परी कहकर उड़ाया था मज़ाक, अब मॉडल बन कमा रही है नाम

Must Read

आमतौर पर आज भी ऐसी कई जगह हैं जहां रंगभेद के कारण लोगों के साथ बुरा व्यवहार किया जाता है। पुराने समय से रंगभेद चला आ रहा है, जो आज के आधुनिक समय में भी देखा जा सकता है। लेकिन बात यहाँ उन लोगों की सहन-शक्ति की आती है जो लोग इस भेद-भाव को सहन करते हैं। कई लोग इस भेद भाव के कारण आगे नहीं बढ़ पाते। लेकिन आज कहानी एक ऐसी लड़की की जिसने इस रंगभेद की महामारी का सामना किया और जीत हासिल की। इस लड़की ने आज उन लोगों की सोच बदल कर रख दी है जो यह सोचते हैं कि सिर्फ गोरे रंग वाले ही जिंदगी में कुछ बेहतर कर सकते हैं।

छत्तीसगढ़ की रहने वाली हैं रेनी

हम बात कर रहे हैं रेनी कुजूर की। रेनी कुजूर छत्तीसगढ़ के जशपुर ज़िले की रहने वाली हैं। रेनी कुजूर एक बेहतरीन मॉडल हैं। रेनी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मॉडलिंग कर भारत का नाम रोशन कर चुकी हैं। लेकिन रेनी का रंग काला होने के कारण उन्हें लोगों के बुरे व्यवहार का सामना करना पड़ा। खास बात ये थी कि इस संघर्ष में भी रेनी के हौंसले चट्टान से भी ज्यादा मजबूत थे। बचपन से ही रेनी को रंगभेद जैसी महामारी का सामना करना पड़ा था, लेकिन आज काला रंग ही रेनी की ताकत बन चुका है। रेनी आज पेरिस जैसे बड़े बड़े शहरों में भी मॉडलिंग कर चुकी है।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Renee Kujur (@badgalrene)

गरीबी में बीता था रेनी का बचपन

रेनी का बचपन भी तंगहाली में बीता था। रेनी ने बताया कि एक समय के राशन को बचाने के लिए उनका परिवार चर्च से मिले खाने को इकट्ठा करके खाया करता था। रेनी का परिवार चर्च से मिले हुए कपड़े को पहनते थे। रेनी ने घर की स्थिति ठीक करने के लिए कई जगह नौकरी भी की। लेकिन कुछ कारणों से वे नौकरी भी चली गई। रेनी जब मॉडलिंग के लिए भी जाती थी तो उन्हें लोग रिजैक्ट कर देते थे क्यूंकि उनका रंग काला था। लेकिन रेनी कोशिश करती रहीं।

लोगों ने कहा काली परी

बचपन से ही रेनी को मॉडलिंग करना बेहद पसंद था। उनको तैयार होना, मेक-अप करना बहुत पसंद था। लेकिन रंग काला होने के कारण जब वह तैयार होती थी तो लोग उन्हें ताने मारते थे। रेनी ने एक साक्षात्कार में बताया था कि एक बार वे अपने स्कूल के कार्यक्रम में परी बनी थी, तब लोगों ने उन्हें काली परी कह दिया था। उसके बाद रेनी को कई लोगों ने कहा कि उनका लुक रिहाना कि तरह है। लेकिन इतना सब कुछ सहन करने के बाद रेनी को कहाँ इस बता पर विश्वास होने वाला था।

फिर रिहाना की तस्वीर को देख रेनी को हुआ एहसास

फिर एक बार उन्होंने एक सोशल मीडिया साइट पर अपनी और रिहाना की तस्वीर देखी और उसके बाद ही रेनी को विश्वास हुआ कि वे रिहाना की तरह दिखती हैं। उसके बाद मॉडलिंग इंडस्ट्री में भी यह बात पता चल गई। रिहाना की पॉपुलैरीटी इतनी है कि रेनी को भी इसके कारण नई पहचान मिल गई। उसके बाद रेनी को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर के मॉडलिंग ऑफर  मिलने लगे। आज रेनी को लोग इंडियन रिहाना और रिहाना 2.0 के नाम से जानते हैं। रेनी रिहाना का भी इस सफलता में बड़ा हाथ मानती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

STAY CONNECTED

259,756FansLike
23,667FollowersFollow
5,345FollowersFollow
10,000SubscribersSubscribe

Latest News

बायजू रवीन्द्रन: गाँव का ये लड़का कभी पढ़ाता था ट्यूशन, आज है करोड़ों की कंपनी का CEO

चाहो तो क्या कुछ नहीं किया जा सकता। यदि बुलंद हौंसलों के साथ आगे बढ़ा जाए तो सफलता जरूर...

More Articles Like This

Citymail India