तो 47 साल बाद भारतीय टीम ने दोबारा दोहरा दिया ये बेकार इतिहास, लार्डस का अंग्रेजों ने दे दिया जवाब

Must Read

NEW DELHI : लार्डस टेस्ट जीतने के बाद भारतीय टीम के हौसले बुलंद थे। लेकिन लीड्स में ऐसा हुआ कि भारतीय टीम जिसको कभी भी याद नहीं रखना चाहेगी। ऐसा इतिहास शायद जो कोई भी टीम न बनाना चाहती है। साल 1974 के बाद भारतीय टीम 2021 में ब्रिटेन में इतने कम स्कोर पर आउट हो गई।

जेम्स एंडरसन ने लिया जमकर बदला

लीड्स टेस्ट में भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। इस ग्रीन विकेट पर उन्होंने पहले बल्लेबाजी क्यो चुनी। इसका जवाब तो कोहली ही दे सकते है। लेकिन उनका यह फैसला पहले ओवर से ही गलत साबित होता हुआ चला गया। जेम्स एंडरसन जिनको लॉर्डस मैच में भारतीय खिलाडिय़ों ने काफी चिढ़ाया था। उन्होंने भारतीय टीम से जमकर बदला लिया।

पहले ही ओवर में केएल राहुल को कर दिया चलता

जेम्स ने पहले ही ओवर में भारत के स्टाइलिश बल्लेबाज केएल राहुल को चलता कर दिया। इसके बाद उन्होंने दीवार कही जाने वाले चेतेश्वर पुजारा को भी निपटा दिया। वहीं कप्तान कोहली को भी पवेलियन का रास्ता दिखाने में बिल्कुल भी देर नहीं की। एडंसरन की गेंद हवा में ही घूम रही थी। भारतीय टीम केवल 78 पर ही सिमट गई। जिसमें रोहित ने सबसे अधिक 19 और आंजिक्य रहाणे ने 18 रन बनाए। इसके अलावा एक्सट्रा रनों ने भारत की थोड़ी सहायता कर दी।

अंग्रेज टीम के सभी बॉलर रहे हावी

ब्रिटेन के न सिर्फ जेम्स एंडरसन बल्कि सभी बॉलर पूरी तरह से भारतीय टीम पर हावी रहे। एंडरसन ने तीन के्रग ओवरटन ने भी तीन विकेट हासिल किए। वहीं आली रॉबिसन और सैम करन ने दो-दो विकेट हासिल किए। वहीं भारत की ओर से पहला ओवर सीनियर बॉलर ईशांत शर्मा ने किया। उम्मीद थी कि वह भी विपक्षी जैसे कमाल दिखाएंगे। लेकिन उन्होंने अपनी लाइन लेंथ से भारतीय कप्तान को ही परेशान करे रखा।

पहले दिन भारत के लिए साबित हुआ ब्लैक डे

पहला दिन भारत के लिए पूरी तरह से ब्लैड डे साबित हुआ। एक तो टीम 78 रन पर आउट हो गई। दूसरा भारतीय गेंदबाज को एक भी विकेट हासिल नहीं हुआ। ब्रिटेन के हसीब हमीद और रोरी बर्नस ने पूरे 42 ओवर खेले। उन्होंने 120 रन बनाए। बर्नस ने 52 और हमीद ने 60 रन बनाए

पहले दिन ही ड्राइविंग सीट पर बैठ गया ब्रिटेन

ब्रिटेन इस टेस्ट मैच में पहले दिन से ड्राइविंग सीट पर बैठ गया है। अब वह मैच पर अपनी पकड़ छोडऩा नहीं चाहेगा। भारत के खिलाफ अंग्रेजों की 2016 के बाद सबसे बड़ी टेस्ट पार्टनरशिप है। पिछली बार हसीब ने डेब्यू टेस्ट में ऐसा किया था। वहीं 2003 से अब तक ब्रिटेन की घर में दूसरी सेंचुरी पार्टनरशिप है। जिसमें कुक और स्ट्रास शामिल नहीं है।

1967-68 में टीम इंडिया के साथ हुआ था ऐसा

वहीं टीम इंडिया के साथ चौथी बार ऐसा हुआ है। जब सामने वाले ओपनर्स ने बिना आउट हुए ही स्कोर से आगे निकल गए है। सबसे पहले 1967-68 मेंं मेलबर्न में हुआ था। इसके बाद साल 2007-2008 में साउथ अफ्रीकन टीम ने इसको दोहराया। वहीं 2011-12 में टीम आस्ट्रेलिया ने पर्थ में ऐसा किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

STAY CONNECTED

259,756FansLike
23,667FollowersFollow
5,345FollowersFollow
10,000SubscribersSubscribe

Latest News

स्कूल टीचर के अतरंगी डांस ने जीता यूजर्स का दिल, करोड़ों यूजर्स को पसंद आ रहा ये वीडियो

सोशल मीडिया पर आए दिन कोई न कोई मजेदार वीडियो वायरल होती ही रहती है। कभी कभी तो वीडियोज़...

More Articles Like This

Citymail India