पहली ही फिल्म से “गुंजा” बनकर जीता था दर्शकों का दिल, लेकिन बाद में नहीं मिली बॉलीवुड में सफलता तो इंडस्ट्री को कहा अलविदा

Must Read

बॉलीवुड में ऐसे कई स्टार्स हैं जिन्होंने अपनी पहली ही फिल्म से दर्शकों को अपना दीवाना बना लिया था और दर्शकों के दिलों पर राज भी करते थे। लेकिन इसके बावजूद वे अब बॉलीवुड की दुनिया को अलविदा कह चुके है। आज हम आपको एक ऐसी ही अभिनेत्री के बारे में बताने जा रहे हैं जिसने  अपनी पहली ही फिल्म से दर्शको के दिलों में अपनी एक अलग पहचान बना ली थी लेकिन इसके बाद इनका किसी और फिल्म में अभिनय का जादू नहीं चल पाया और इन्होंने बॉलीवुड को अलविदा कह दिया। बेशक आज ये अभिनेत्री बॉलीवुड को अलविदा कह चुकी हैं लेकिन आज भी दर्शक इनसे बेहद प्यार करते हैं। आइए जानते हैं साधना सिंह से जुड़ी कुछ खास बातें।

Sadhana S
फोटो-इंस्टाग्राम/SadhanaSingh

इस फिल्म से की थी बॉलीवुड में एंट्री

साधना सिंह को आज कौन नहीं जानता? जब भी कोई “गुंजा” कहता है तो फिल्म नदिया के पार की गुंजा याद आ जाती है। साधना सिंह बॉलीवुड की बहुत ही चर्चित अभिनेत्री हैं। साधना ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत फिल्म “नदिया के पार” से की थी। इस फिल्म में गुंजा का अभिनय कर साधना ने दर्शकों का दिल जीत लिया था। साधना सिंह की ये पहली फिल्म ही सुपर डुपर हिट हुई थी। साथ ही साधना के अभिनय को भी फैन्स ने खूब प्यार दिया था।

Sadhna
फोटो-इंस्टाग्राम/SadhanaSingh

इसके बाद नहीं मिल पाई साधना को बॉलीवुड में सफलता

इस फिल्म के बाद साधना को गुंजा के नाम से जाना जाने लगा। इस फिल्म को करने के बाद साधना को कई फिल्में ऑफर हुईं और साधना ने भी इन फिल्मों में काम किया लेकिन उन्हें कुछ खास सफलता नहीं मिली। साधना ने औरत, तुलसी, पापी संसार, पत्थर जैसी कई फिल्मों में काम किया लेकिन इन फिल्मों से साधना दर्शकों के दिलों में अपनी जगह नहीं बना पाई और फिर साधना सिंह ने बॉलीवुड को अलविदा कह दिया।

Gunja
फोटो-इंस्टाग्राम/SadhanaSingh

टीवी इंडस्ट्री में भी आजमाई अपनी किस्मत

बॉलीवुड से ब्रेक लेने के बाद साधना सिंह ने टीवी इंडस्ट्री में भी अपना करियर आजमाने का प्रयास किया था। साधना सिंह ने फुलवा, संतोषी माँ और किस देस में है मेरा दिल जैसे कई धारावाहिक में काम किया। इसी बीच साधना सिंह फिल्म प्रोड्यूसर राजकुमार शाहाबादी के साथ शादी के बंधन में बंध गई और अब वे अपने शादीशुदा जीवन को अच्छे से व्यतीत कर रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

आजाद भारत की पहली महिला IAS अफसर है ये महिला, करना पड़ा था रूढ़िवादियों का सामना लेकिन काबिलियत से हासिल की सफलता

आमतौर पर महिलाओं को आजादी के इतने सालों के बाद भी अपने सपनों को पूरा करने के लिए समाज...

More Articles Like This

Citymail India