सिद्धू के भाषण में दिखी तल्खी, तो कैप्टन ने कहा हम दोनों रहेंगे साथ तो सब हो जाएंगे साफ

Must Read

 

NEW DELHI  : गुरूवार को पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष बनाए गए नवजोत सिंह सिद्धू ने अपना पदभार संभाल लिया। इस दौरान नवजोत सिद्धू के भाषण में तल्खी नजर आई तो कैप्टन अमरिंदर सिंह ने साथ चलने का संकेत दिया। कैप्टन ने कहा कि पंजाब की सियासत में हम दोनों साथ चलेंगे तो देखना अगले चुनाव में कोई भी नजर नहीं आएगा। वहीं कै प्टन यह भी कहने से नहीं चूके जब तुम्हारा जन्म हुआ तभी से तुम्हारे परिवार को जानता हूुं। मंच से उन्होंने बार बार सिद्धू सिद्धू कहकर संबोधित किया। हालांकि सिद्धू को देखकर ऐसा लगा कि वह उनकी बातों को गंभीरता के साथ नहीं सुन रहे है।

सोनिया ने कहा कि तो हमने किया मंजूर

कैप्टन ने अपने भाषण में सिद्धू से कहा कि सारा बॉर्डर पाकिस्तान से सटा हुआ है। हमको काफी सावधान रहने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी एक जमात की तरह है। हमने आजादी की लड़ाई लड़ी है। हमको अपना फर्ज और ड्यूटी एक साथ निभानी है। उन्होंने कार्यकर्ताओं को यह भी संकेत दे दिया कि सोनिया गांधी ने मुझसे कहा था कि नवजोत पंजाब के अध्यक्ष होंगे तो हमने भी कहा आपको जो भी फैसला होगा हमको पूरी तरह से मंजूर होगा।

नवजोत ने छूए अमरिंदर के पैदा

सिद्धू ने कहा कि अब वह पूरे पंजाब के कार्यकर्ता प्रधान बन गए है। उन्होंने कहा कि सबसे पहले वह किसानों की समस्याओं को हल करना चाहते है। वहीं बताया जाता है कि पंजाब भवन में चाय पार्टी के दौरान अमरिंदर सिंह के पैर छूए। इसके साथ ही पार्टी में पिछले ढाई माह से चली आ रही तनातनी भी खत्म हो गई। राहुल गांधी इससे पूरी तरह से गदगद नजर आए।

हरीश रावत के साथ ताजपोशी में पहुंचे अमरिंदर

शुक्रवार सुबह सिद्धू पटियाला से चंडीगढ़ पंजाब भवन पहुंचे। थोड़ी देर में कैप्टन अमरिंदर सिंह भी पंजाब भवन पहुंच गए। हालांकि सिद्धू कैप्टन से मिले बिना ही पंजाब कांग्रेस भवन रवाना हो गए। थोड़ी देर में उन्हें पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत का फोन आया। जिसके बाद वह दोबारा पंजाब भवन पहुंचे। यहां उन्होंने कैप्टन से मुलाकात की। उनके पैर भी छूए। चाय पार्टी के बाद सभी लोग सिद्धू की ताजपोशी के लिए पंजाब कांग्रेस भवन रवाना हो गए। पंजाब कांग्रेस का संकट खत्म होने के बाद राहुल गांधी ने ट्वीट करके खुशी जताई। इस दौरान पंजाब कांग्रेस के कार्यकारी प्रधान कुलजीत सिंह नागरा, सुखविंदर सिंह डैनी, संगत सिंह गिलजियां और पवन गर्ग भी अपना पदभार संभालेंगे। सभी विधायकों को निर्देश दिया गया कि पदभार ग्रहण समारोह को यादगार बनाने के लिए अपने क्षेत्र से एक हजार कार्यकर्ता लेकर चंडीगढ़ आए।

पुलिस ने नहीं दी मंजूरी

प्रदेश कांग्रेस का इरादा 50 हजार पार्टी कार्यकर्ताओं को चंडीगढ़ स्थित पंजाब कांग्रेस भवन में एकत्र करने का है। लेकिन इस समय चंडीगढ़ में धारा 144 लागू है। इतनी बड़ी संख्या में लोगों के जमा होने को लेकर पुलिस ने मंजूरी नहंी दी है। अब पुलिस तय करेगी कि कांग्रेस भवन में कितने कार्यकर्ता एकत्र होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

STAY CONNECTED

259,756FansLike
23,667FollowersFollow
5,345FollowersFollow
10,000SubscribersSubscribe

Latest News

वाह रे अमीरी! बिज़नसमैन ने अपने पालतू कुत्ते के लिए बुक कराया पूरा बिज़नस क्लास, यूजर्स हुए हैरान

अमीरी का तो क्या ही कहना? अमीरों के शौक सुन सुनकर आम आदमी तो हैरान ही हो जाता है।...

More Articles Like This

Citymail India