10 साल से लवारिश हालात में घूम रहा भिखारी, निकला डीएसपी के बैच का आफिसर

Must Read

 

NEW DELHI : कई बार हमारे सामने ऐसी परिस्थिति आ जाती है कि हम सोच भी नहीं सकते कि ऐसा कैसे हो सकता है। लेकिन उस सच को हमको कई बार स्वीकार भी करना पड़ता है। यह चीजे पूरी तरह से हैरान कर देने वाली होती है। मध्यप्रदेश के गवालियर में एक ऐसा ही मामला सामने आया। जिसने पुलिस अधिकारियों को भी पूरी तरह से हैरान कर दिया।

भिखारी निकला उनके बैच का आफिसर

उपचुनाव की गणना के बाद डीएसपी रत्नेश सिंह तोमर अपने साथी विजय सिंह भदौरिया के साथ गश्त पर निकले थे। वहां पर उन्होंने एक भिखारी को सडक़ पर ठंड से ठिठुरते हुए देखा। उन्होंने देखा कि भिखारी बहुत कांप रहा है। वह उसके पास गए। उन्होंने भिखारी को कोट और जूते दिए। ताकि उसकी ठंड को कम किया जा सके।

दोनों की बातचीत तो रह गए हैरान

डीएसपी ने भिखारी से बातचीत करनी शुरू कर दी। जब उनके सामने भिखारी की असलियत आई तो वह पूरी तरह से हतप्रभ रह गए। उनको समझ नहीं आ रहा था कि ऐसे कैसे हो सकता है। भिखारी डीएसपी के बैच का ही आफिसर निकला। भिखारी 10 सालों से लवारिश हालात में घूम रहा था। वह 1999 का पुलिस अधिकारी और अचूक निशानेबाज था। उसका नाम मनीष मिश्रा है। वह कई थानों में थानेदार के रूप में नियुक्त रहे।

दतिया में रही अंतिम पोस्टिंग

मनीष की अंतिम पोस्टिंग दतिया में रही। उनकी मानसिक स्थिति धीरे धीरे खराब होने लगी। इस बात को लेकर उनके घरवाले भी काफी परेशान रहने लगे। उनको इलाज के लिए इधर उधर ले जाया जाने लगा। एक बार उनको इलाज के लिए ले जाया गया था। जहां से वह भाग गए। उसके बाद से वह भटकते रहे।

भीख मांगते मांगते गुजर गए 10 साल

उनके परिवार वालों को भी नहीं पता चला कि वह कहां गए। बाद में उनकी पत्नी ने उनको तलाक दे दिया। परिवार वालों ने काफी खोजने का प्रयास किया, लेकिन वह नहीं मिले। मनीष मिश्रा इन दोनों अधिकारियों के साथ ही सबइंस्पेक्टर के तौर पर भर्ती हुए थे। तीनों ने मिलकर खूब बात की। वह मनीष को ले जाने की भी बात करने लगे। लेकिन मनीष तैयार नहीं हुए।

एसएसपी पद से रिटायर हुए है चाचा

मनीष के चाचा एसएसपी पद से रिटायर हुए है। उनकी बहन भी दूतावास में है। वहीं उनकी पत्नी जिससे तलाक हुआ है। वह भी न्यायिक विभाग में नियुक्त है। दोनों अधिकारियों ने मनीष को समाजसेवी संस्था में भिजवाया। जहां उनकी अच्छी देखभाल हो सके। मनीष की दर्दभरी कहानी जो भी सुनता है वह दुखी और हैरान हो जाता है। अब मनीष का इलाज दोबारा शुरू हो गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

10 साल से लवारिश हालात में घूम रहा भिखारी, निकला डीएसपी के बैच का आफिसर

 NEW DELHI : कई बार हमारे सामने ऐसी परिस्थिति आ जाती है कि हम सोच भी नहीं सकते कि...

More Articles Like This

Citymail India