Saturday, June 19, 2021

मदद मांगने के लिए 700 किलोमीटर का सफर पैदल तय कर रहा आटो चालक का बेटा, वीडियो हुआ वायरल

Must Read

NEW DELHI : जरूरतमंद लोगों के लिए सोनू सूद एक मसीहा बन चुके है। किसी भी व्यक्ति को जरूरत महसूस होती है तो वह सोनू सूद से मदद मांगने चल देता है। सोनू भी किसी को निराश नहीं करते है। वह जरूरतमंद व्यक्ति की मदद कर रहे है। ऐसा ही कुछ तेलंगाना के विकाराबाद जिले के इंटरमीडिएट का छात्र वेंकटेश सोनू से मदद मांगने के लिए जा रहे है।

हैदराबाद से मुंबई पैदल जा रहे है सोनू सूद

सोनू सूद हैदराबाद से मुंबई जा रहे है। तेलांगना के दोमा मंडल स्थित दोरनालपल्ली गांव का रहने वाला वेंकटेशन इंटरमीडिएट का दूसरे साल का छात्र है। उनकी मां गुजर गई है। पिता आटो रिक्शा चलाते है। वेंक टेश के पिता फाइनेंस में आटो रिक्शा लेकर चलाते है। परिवार का काफी उधार का बोझ बढ़ गया है। घर चलाना मुश्किल हो गया है। ईएमआई नहीं चुका पानी पर फाइनेंस वालो ने आटो रिक्शा छीन कर ले गए थे।

पिता की हालात देखकर वेंक टेश हो गया निराश

पिता की हालत देखकर वेंकटेश पूरी तरह से निराश हो गया। वेंक टेश सोनू सूद का बहुत बड़ा प्रसंशक है। कोरोना महामारी के दौरान सोनू सूद गरीबों का मसीहा बना हुआ है। उन्होंने लाखों लोगों की मदद की है। वेंकटेशन सोनू सूद को भगवान की तरह पूजता है। वेंकटेश ने निर्णय लिया कि वह हैदराबाद से मुंबई पैदल चलकर जाएगा।

सोनू की शलामती के लिए मांग रहे दुआ

वेंक देश बताते है कि उनकी सोनू सूद मदद करे या न करे। लेकिन वह दूसरों की मदद ऐसे ही करते है। उन्होंने कहा कि रास्ते में जितने भी मंदिर मस्जिद आ रहे है वह हर जगह पर सोनू की सलामती की दुआ मांगते हुए जा रहे है। वेंकटेश ने सोनू का हैदाराबाद का पटानचेरू से मुंबई के लिए पैदल यात्रा शुरू कर दी है। वह बताते है कि जब कभी थक जाते है तो सोनू सूद का नाम ध्यान करते ही उनके चेहरे पर एनर्जी आ जाती है।

सोशल मीडिपर वायरल हुआ वीडियो

वेंकटेश का यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो सोनू सूद ने कहा कि दोस्त अपनी जान को जोखिम में मत डालो। मूझे इतना प्यार करने के लिए आप का धन्यावाद। मुझे पता है लोग मुझे काफी प्यार करते है। उन सभी लोगों को मेरा प्यार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

भारतीय मूल की बेबाक पत्रकार को मिला अमेरिका का सबसे प्रतिष्ठित पुलित्ज़र अवार्ड, पत्रकारिता से चीन को किया था बेनकाब

कहते हैं कि राष्ट्र की प्रगति में निष्पक्ष पत्रकारिता बेहद ही अहम भूमिका निभाती है। कलम की ताकत को...

More Articles Like This

The Citymail - Hindi