गुजर बसर के लिए बेचते थे अखबार, पिता थे टेलर, अब कड़ी मेहनत से बदले परिवार के दिन IAS बन हासिल की सफलता

Must Read

यदि आप सफलता को पाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कड़ी मेहनत के साथ-साथ बुलंद हौंसलों और की भी आवश्यकता होती है और यदि आपको आपके परिवार का साथ भी मिल जाए तो यह तो सोने पर सुहागा जैसा होगा। आज हम आपको एक ऐसे ही आईएएस अफसर की कहानी बताने जा रहे हैं जिन्होंने अपनी कड़ी मेहनत और अपने परिवार के साथ से यूपीएससी जैसी कठिन परीक्षा को पास किया है। इतना ही नहीं इस आईएएस अफसर की सफलता के मार्ग में अनेकों कठिनाइयाँ आईं लेकिन इन्होंने डटकर सभी का सामना किया और सफलता के मुकाम को हासिल किया। आइए जानते हैं आईएएस अफसर निरीश राजपूत के बारे में।

बेहद गरीब परिवार में जन्में थे निरीश

आज हम आपको निरीश राजपूत के बारे में बताने जा रहे हैं। निरीश मध्यप्रदेश के भिंड ज़िले के रहने वाले हैं। निरीश का परिवार बेहद ही गरीब था। निरीश के पिता टेलर हैं। जैसे-तैसे निरीश का परिवार का गुजारा चलता था। इसके लिए निरीश भी अखबार बेचने का काम करते थे। लेकिन निरीश के पिता और उनके बड़े भाई निरीश की पढ़ाई में कोई कमी नहीं होने देते थे। निरीश ने सरकारी स्कूल से अपनी शुरुआती पढ़ाई की और उसके बाद BSC और MSC भी की। कम संसाधनों के बावजूद भी निरीश ने कॉलेज में टॉप किया था।

दोस्त ने दिया था धोखा, लेकिन नहीं मानी हार

निरीश पढ़ने में बहुत अच्छे थे। निरीश के दोस्त ने निरीश से कहा कि यदि वह उनकी कोचिंग इंस्टीट्यूट खोलने में मदद करेंगे तो वह उन्हें यूपीएससी की तैयारी के लिए नोट्स देंगे। निरीश और उनके दोस्त ने मिलकर उत्तराखंड में एक कोचिंग इंस्टीट्यूट शुरू कर दिया। उसके बाद जब इंस्टीट्यूट अच्छा चलने लगा तो निरीश के दोस्त ने उन्हें कोचिंग सेंटर से निकाल दिया। इससे निरीश को बहुत दुख हुआ और उन्होंने 2 साल तक कुछ नहीं किया।

चौथे प्रयास में हासिल की सफलता

दोस्त से धोखा मिलने के बाद निरीश दिल्ली चले आए और उसक बाद यहाँ निरीश ने यूपीएससी की तैयारी करना शुरू कर दिया। परीक्षा के लिए निरीश ने किसी भी तरह की कोचिंग नहीं ली। परीक्षा की तैयारी के साथ-साथ निरीश पार्ट टाइम नौकरी भी कर रहे थे। निरीश परीक्षा में सफलता पाने के लिए 18-18 घंटे की पढ़ाई करते थे। पहले तीन प्रयासों में निरीश को असफलता ही हाथ लगी लेकिन चौथे प्रयास में निरीश ने 370वीं रैंक हासिल की और आईएएस के पद पर उनका चयन हो गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

बिना कोचिंग के पूरे आत्मविश्वास के साथ पहले ही प्रयास में पास की यूपीएससी की परीक्षा, जानिए सफलता का राज

यूपीएससी परीक्षा को हर साल कई परीक्षार्थी देते हैं कुछ परीक्षार्थियों को सफलता पाने में लंबा समय लग जाता...

More Articles Like This

Citymail India