Sunday, June 20, 2021

बिना रसायनिक प्रयोग के शुरू की स्ट्राबेरी की खेती, अब कर रहे लाखों रुपए की कमाई

Must Read

नई दिल्ली : अब खेती परापंरिक पेशा न हो कर अच्छी कमाई का जरिया भी बन गई है। लेकिन इसके लिए कुछ अलग करना होगा। कुछ ऐसा ही कानपुर (kanpur)के किसान रमन शुक्ला (raman shukla )कर रहे है। वह स्ट्राबेरी (strawberry ) की खेती से लाखों रुपए की कमाई कर रहे है। कानपुर, महाराजपुर के भीतरगांव ब्लाक के दौलतपुर के निवासी रमन शुक्ला गांव में स्ट्राबेरी की खेती करके दूसरे किसानों के लिए मिशाल बन गए है। वह बिना रसायनिक प्रयोग के जैविक तरीके से स्ट्राबेरी की खेती कर रहे है।

20 हजार रुपए की लागत से दो बिस्वा जमीन शुरू की खेती
रमन बताते है कि उन्होंने 20 हजार रुपए की लागत से 2 बिस्वा जमीन पर खेती शुरू की है। इस खेती को लेकर उन्होंने कड़ी मेहनत की। परिणामस्वरूप पहली बार के उत्पादन में ही 30 हजार रुपए की आमदनी हुई। रमन शुक्ला अमेरिका (america) के कैलिफोर्निया (california) में होने वाली स्ट्राबेरी के कैमारोजजा प्रजाति की खेती करते है। रमन शुक्ला की खेती देख बाकी किसान भी उनकी खेती से काफी प्रेरित हो रहे है। शुक्ला बताते है कि उनके जानकार ने दो साल पहले स्ट्राबेरी की खेती करने का सुझाव दिया था।

जैविक खाद का किया इस्तेमाल
रमन बताते है कि स्ट्राबेरी की खेती करने के लिए वह किसी भी प्रकार के रसायन का प्रयोग नहीं करते है। वह गोबर और जैविक खाद (organic fertilizer ) का प्रयोग करते है। रोपाई के 25 दिन बाद ही उन्होंने पौधों के नीचे पॉलिथीन बिछा दी। ताकि फल मिट्टी से बचे रहे। अमेरिका के कैलिफोर्निया में होने वाले स्ट्राबेरी के कैमारोजा प्रजाति की विशेषता यह है कि इस प्रजाति के पौधे बहुत कम समय में ही फल देने लगते है। अन्य स्ट्राबेरी की अपेक्षा यह काफी स्वादिष्ट होते है। व्यापारी इसको 60 रुपए प्रति डिब्बे के हिसाब से खरीददारी कर रहे है। रमन एक दिन में एक हजार से 1200 रुपए की आमदनी होती है।

लागत से 8 से अधिक गुना अधिक मुनाफा
रमन शुक्ला बताते है कि खेती में जितनी लागत आती है कि वह उससे आठ से 10 गुना अधिक मुनाफा कमाते है, यदि उत्पादन अच्छा होता है तो कमाई भी अच्छी होगी। खेती से अच्छा मुनाफा होने पर रमन से 2 बीघा जमीन पर स्ट्राबेरी की खेती करने का निर्णय लिया। उनके गांव के किसान ओम प्रकाश त्रिपाठी बताते है कि रमन शुक्ला के इस खेती को देखने के लिए दूर दूर से लोग आते है।

पैदावार हो सकती है 10 टन तक
एक पौधे में हर बार 1 से 2 किलो तक स्ट्राबेरी का उत्पादन होता है। स्ट्राबेरी का अच्छा ग्रोथ 20 से 30 डिग्री तापमान में है। यदि कोई किसान एक हेक्टेयर से अधिक खेती करता है तो उसको पांच से सात टन की पैदावार कर सकता है। लेकिन फसलों की ग्रोथ अच्छी रही तो 10 टन तक भी पैदावार की जा सकती है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

भारतीय मूल की बेबाक पत्रकार को मिला अमेरिका का सबसे प्रतिष्ठित पुलित्ज़र अवार्ड, पत्रकारिता से चीन को किया था बेनकाब

कहते हैं कि राष्ट्र की प्रगति में निष्पक्ष पत्रकारिता बेहद ही अहम भूमिका निभाती है। कलम की ताकत को...

More Articles Like This

The Citymail - Hindi