Monday, June 14, 2021

अंतरराष्ट्रीय बाल दिवस : यह बच्चे जिनका बड़े भी मानते है लोहा, कम उम्र में कर दिए बड़े कारनामे

Must Read

नई दिल्ली : छोटा बच्चा समझकर हमसे न टकराना रे। यह गाना सभी ने सुना ही होगा। इस गाने के बोल भारत के कुछ प्रतिभाशाली बच्चों पर बिल्कुल सटीक बैठते है। क्योंकि उन्होंने कम उम्र में ही बड़े कारनामे कर दिए है। आज हम आपको ऐसे ही बच्चों से मिलवाने वाले है।
लिसिप्रिया कुंगजम
लिसिप्रिया कुंगजम (licypriya kangujam) को इतनी कम उम्र की पर्यावरण कार्यकर्ता के रूप में पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम ने पुरस्कार देकर नवाजा था। इनको साल 2019 में एपीजे अब्दुल कलाम चिल्ड्रन अवार्ड दिया गया था। इससे पहले साल 2018 में इनको मंगोलिया की राजधानी में हुए एशियन आपदा जोखिम न्यूनीकरण के लिए मंत्रिस्तरीय कार्यक्रम में बुलाया गया था।

फोटो इंस्टाग्राम – .licypriya kangujam

तिलक मेहता
मुंबई में रहने वाले 15 साल के तिलक मेहता (tilak mehta )ने पेपर एंड पार्सल नाम से कंपनी की शुरुआत की। इन्होंने मुंबई के फेमस डब्बावाला के साथ टाइअप किया। अब प्रतिदिन 1200 पार्सल भेजते है। तिलक मेहता कहते है डब्बावाला के साथ यह टाइअप सर्विस को बेहतरीन बनाने के लिए किया गया।

लिदियन नादस्वरम
16 वर्षीय लिदियन नधास्वरम (lydian nadhaswaram )युवा भारतीय पियानोवादक ने 2019 में सीबीएस टैलेंट शो जीता था। उन्होंने एक मिलियन की पुरस्कार राशि जीती थी। युवा पियानोवादक तमिलनाडू के चेन्नई से है। तमिल संगीत निर्देशक वर्षा सतीश के बेटे है।

आर. प्रज्ञानानंद
मुंबई के रहने वाले रमेश प्रज्ञानंद (ramesh pargyanand )को 15 साल में सबसे युवा चेस चैंपियन का खिताब मिला है। इन्होंने चेस ग्रैंडमास्टर का खिताब भी अपने नाम किया है। इन्होंने 8 साल की उम्र में चेस चैंपियनशिप का खिताब हासिल किया था। साल 2015 में इन्होंने अंडर-10 चेस चैंपियन का खिताब जीता।

कोटिल्य पंडित
हरियाणा के कोटिल्य पंडित (kautilya pandit )को गूगल बॉय के नाम से भी जाना जाता है। इनके सामान्य ज्ञान का सब लोहा मानते है। पांच साल की उम्र में कोटिल्य ने कौन बनेगा करोड़पति में भाग लिया था। इस लडक़े के आइक्यू लेवल को देखकर सभी हैरान हो जाते है।

फोटो इंस्टाग्राम – kautilya pandit

अर्शदीप सिंह

अर्शदीप सिंह (arshdeep singh ) ने वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफी में कई नेशनल अवार्ड जीते है। साल 2018 में अंडर-10 कै टेगिरी में इन्होंने वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफी में कई अवार्ड जीते थे। अर्शदीप बताते है कि उसके अधिकतर फोटो पंजाब के कपूरथला से लिए हुए थे।

यथार्थ मूर्ति
यथार्थ मूर्ति (yatrath murti ) का नाम नेशनल बुक आफ रिकार्ड में दर्ज है। इन्होंने यह रिकार्ड नेशनल एंथम गाने में बनाया है। यह 260 देशों के नेशनल एंथम गा सकते है।

लिटिल शेफ किचा
लिटिल शेफ किचा को निहाल राज (nihal raj) के नाम से भी जाना जाता है। यह भारत के सबसे ऐसे युवा शेफ है। जिन्होंने अमेरिकन टॉक शो में भी भाग लिया है। ऐसा करने वाले यह भारत के पहले युवा शेफ थे।

शुभम जागलान
शुभम जागलान (shubham jaglan )को साल 2012 से पहले कोई नहीं जानता था। इन्होंने 2012 वल्र्ड क्लासिक गोल्फ चैंपियनशिप जीतकर सबका ध्यान अपनी ओर खीचा।

अद्वैत कोलारकर
अद्वैत कोलारकर (Advait Kolarkar)  कनाडा से संबंध रखती है। इनकी पेंटिंग लाखों रु पए में बिकती है। इनकी पेंटिंग अधिकतर ग्रह और ड्रैगन से प्रेरित होती है। वह कई सोलो प्रदर्शनी आयोजित कर चुकी है। जिसमें देश विदेश के लोग भाग ले चुके है।

तृत्ताराज पंड्या
तृत्ताराज पंड्या (tataraj pandya  )से तबला बजाने में गिनीज बुक आफ वल्र्ड रिकार्ड में अपना नाम दर्ज कराया है। इन्होंने छह साल की उम्र में ही तबला बजाना सीख लिया था।

अंशुमन नंदी
अंशुमन नंदी (anshuman nandi )को ड्रम बजाने में महारत हासिल है। उन्होंने अपने डैड से ड्रम बजाने कला सीखी है। इन्होंने सारे गा मा पा में भी ड्रम बजाया था। नेशनल स्तर पर भी अंशुमन कई शो कर चुकी है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

बेकार कबाड़ से बना दिए छोटे वाहन, सुविधाओं में बड़ी गाडिय़ों को भी करते है फेल 

New delhi: आवश्यकता अविष्कार की जननी है। ऐसा हम बचपन से सुनते आ रहे है, लेकिन इसको कभी देख...

More Articles Like This

The Citymail - Hindi