आईएनएस विक्रांत : एक ऐसा जहाज जिससे पाकिस्तान खाता था खौफ, हर हाल में करना चाहता था तबाह

Must Read

New delhi : भारतीय सेना का युद्धपोत कोई ही ऐसा व्यक्ति होगा जिसने इसका नाम नहीं सुना होगा। इससे पाकिस्तान भी इतना खौफ खाता था कि वह हर हाल में इसको तबाह करना चाहता था। भारत का समुद्री इतिहास काफी समद्ध और गौरव भरा है। इसमें अनेक युद्धपोत शामिल हुए। लेकिन जब युद्धपोतों की बात आएगी तो उसमे आईएएसन विक्रांत का नाम सबसे पहले गिना जाएगा।

Vikrant  navy
विक्रांत नेवी फोटो /NEWJ GARV

साल 1961 में किया गया था शमिल

साल 1961 में इस विमानवाहक जहाज को आइएनएस विजय लक्ष्मी पंडित के नाम से सेना में शामिल किया गया था। बाद में इसका नाम विक्रांत किया गया। जिसका मतलब अपराजय और साहस होता है। इस जहाज का निर्माण ब्रिटेन के विकर्स आर्मस्ट्रांग शिपयार्ड में हुआ था। शुरू में इसका नाम हकुर्लस था। साल 1945 में इसको ब्रिटिश नौसेना में शामिल किया गया था।

Vikram navy
विक्रम नेवी /NEWJ GARV

सक्रिय सेना में नहीं हो पाया शामिल

इस जहाज को ब्रिटेन के सक्रिय सेना मेें शामिल किया जाता। इससे पहले ही द्वितिय विश्व युद्ध शुरू हो गया। ब्रिटेन से यह जहाज भारत को बेच दिया। आयरिश हारलैंड और वोल्फ शिपयार्ड ने इसमे कई सुधार किए। चार मार्च 1961 को इसको भारतीय नौ सेना में शामिल कर लिया गया।

Vikrant navy
विक्रांत नेवी /NEWJ GARV

समुंद्र में बढ़ा भारत का दबदबा

विक्रांत की वजह से भारत का समुंद्र में दबदबा बढ़ गया। इस पोत में बायलर्स में कुछ समस्या थी। सीमित रफ्तार में इसको काम करना पड़ता था। साल 1971 में हुए पाकिस्तान के साथ हुए युद्ध में विक्रांत के कारण दुश्मन देश के छक्के छूट गए। इस जहाज के नाम से ही इनमे इतना खौफ पैदा हो गया था कि वह जहाज को तबाह करना चाहता था। भारत ने पाकिस्तान के मन में इस जहाज के जरिए मनोवैज्ञानिक खौफ भी पैदा किया। उसने आईएनएस राजपूत को आईएनएस विक्रांत बनाकर पेश किया।

साल 1997 में कर दिया गया सेवा मुक्त

साल 1997 में विक्रांत को सेवा मुक्त कर दिया गया। इसकी लोकप्रियता को देखते हुए भारत सरकार ने इसको तैरते हुए संग्रहालय में बदलने का फैसला किया। वर्तमान में यह जहाज मुंबई में गेटवे आफ इंडिया के पास है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

बिना कोचिंग के पूरे आत्मविश्वास के साथ पहले ही प्रयास में पास की यूपीएससी की परीक्षा, जानिए सफलता का राज

यूपीएससी परीक्षा को हर साल कई परीक्षार्थी देते हैं कुछ परीक्षार्थियों को सफलता पाने में लंबा समय लग जाता...

More Articles Like This

Citymail India