Monday, June 14, 2021

तो छह महीने में 14 पेन से इन बंदे ने लिखा था भारत का संविधान, पंडित जवाहर लाल नेहरू के सामने रखी थी यह शर्त

Must Read

NEW DELHI  :  भारत का संविधान दुनिया का सबसे लंबा संविधान है। इसमें 365 आर्टिकल है। जब भी संविधान की बात की जाती है तो बाबा भीमराव अंबेडकर का नाम लिया जाता है। लेकिन किसी को शायद ही पता हो इस संविधान को लिखा किसने था।

DR BR AMBEDKAR
डॉ बी आर अम्बेडकर फोटो /NEWJ GARV

प्रेम बिहारी नारायण रायजदा ने लिखा था भारत का संविधान

भारत के संविधान को प्रेम बिहारी नारायण रायजदा ने लिखा था। रायजदा का जन्म 17 दिसंबर 1901 को कैलीगार्फस के घर हुआ। बिहारी ने काफी कम उम्र में अपने माता पिता को खो दिया। उनका पालन उनके दादा रामप्रसाद सक्सेना जी ने किया। दादा जी पारस और अंग्रेजी भाषा के स्कालर थे। यहां तक की उन्होंने अंग्रेजों को भी पारसी भाषा सिखाई।

PEN
पैन फोटो /NEWJ GARV

दादा से सीखी कैलीग्राफी

रायजदा ने अपने दादा से ही कैलीग्राफी सीखी। दिल्ली के स्पीफन कालेज से ग्रेजुएशन करके के बाद रायजदा कैलीग्राफी में मास्टर हो गए। जब भारतीय संविधान बनकर प्रिंट होने के लिए तैयार था तो पंडित जवाहर लाल नेहरू ने उनसे फ्लोइंग इटालिक स्टाइल में संविधान लिखने के लिए कहा। नेहरू ने उनसे पूछा कि वह फीस कितनी लेंगे। रायजदा ने कहा कि वह कोई फीस नहीं लेंगे। उनके पास भगवान का दिया हुआ सबकुछ है।

नेहरू के सामने रखी शर्त

रायजदा ने नेहरू के सामने शर्त रखते हुए कि संविधान के हर पन्ने के अंतिम में उनके और उनके दादा जी का नाम होगा। नेहरू इस शर्त के लिए राजी हो गए। प्रेम बिहारी को यह काम पूरा करने में पूरे छह माह लगे। संविधान को हाथों से लिखने में 432 पेन की निब घिस गई। उन्होंने कैलीग्राफी के लिए 303 नंबर निब का इस्तेमाल किया।

खूबसूरत चित्रों से गया सजाया

संविधान की किताब को खूबसूरत चित्रों से सजाया गया। संविधान की किताब के हर एक पेज के बॉर्डर को नंदालाल बोस और उनके छात्रों ने डिजाइन किया। इसको खूबसूरत कलाकृतियों से सजाया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

बेकार कबाड़ से बना दिए छोटे वाहन, सुविधाओं में बड़ी गाडिय़ों को भी करते है फेल 

New delhi: आवश्यकता अविष्कार की जननी है। ऐसा हम बचपन से सुनते आ रहे है, लेकिन इसको कभी देख...

More Articles Like This

The Citymail - Hindi