आखिर अपना देश छोडक़र ब्रिटेन क्यों भाग रहे हैं भारतीय अरबपति, 8 प्राईवेट जेट लंदन रवाना

ऐसी खबरें इस समय खासी सुर्खियों में है कि भारतीय अरबपति अपना देश छोडक़र लंदन जा रहे हैं। इसमें कितनी सच्चाई है यह तो आने वाले दिनों में पता चलेगा, मगर पिछले दिनों 8 प्राईवेट जेट लंदन गए क्यों?

Must Read

नई दिल्ली। ब्रिटेन (Britain) की तरफ से लगाए गए प्रतिबंध से ठीक पहले कुछ भारतीय अरबपतियों के लंदन (london) जाने की खबरों ने हलचल मचा दी है। पता चला है कि हाल ही में भारत से 8 प्राईवेट विमान (Private Jet) लंदन गए हैं। इस पर करीब 72000 पाऊंड यानि कि 72 लाख रुपए खर्च होने की बात सामने आई है। इसके बाद देश में चर्चा का माहौल गर्मा गया कि आखिर ये कौन से अमीर लोग हैं, जोकि इस संकट की घड़ी में अपने देश को छोडक़र ब्रिटेन गए हैं।

आखिर ये नौबत आई क्यों

अब यह सवाल भी उठ रहे हैं कि आखिर ऐसी क्या नौबत आ गई कि ये अमीर लोग जल्दबाजी में अपना देश छोडक़र प्राईवेट विमान से ब्रिटेन गए हैं। चर्चा तो इस बात को लेकर भी है कि रिलायंस प्रमुख मुकेश अंबानी (Reliance Mukesh Ambani) भी अपने परिवार के साथ ब्रिटेन चले गए हैं। हालांकि हाल ही में उन्होंने वहां बहुत बड़ी सपंत्ति खरीदी हैं, जिनमें होटल व फार्म हाऊस शामिल हैं। बताया गया है कि वह भी अपने परिवार के साथ वहीं हैं।

उदार पूनावाला भी ब्रिटेन चले गए

इससे पहले खबर यह आ रही थी कि  वैक्सीन बनाने को लेकर सुर्खियों में आए सीरम इंस्टीच्यूट के उदार पूनावाला (Serum Institute CEO Adar Poonawalla)  भी अपने परिवार के साथ ब्रिटेन चले गए हैं। हालांकि भारत सरकार ने उन्हें वाई श्रेणी की सुरक्षा भी दी है। इसके बावजूद उनके ब्रिटेन जाने को लेकर देश भर में जमकर चर्चा हो रही है। उदार पूनावाला का यह बयान भी काफी चर्चाओं में है कि उन्हें देश के कुछ ताकतवर लोगों से धमकियां मिल रही थीं। इसलिए वह देश छोडक़र ब्रिटेन चले गए हैं।

पूनावाला ने लगाए गंभीर आरोप

बताया तो यह भी जाता है कि उदार पूनावाला देश के बाहर भी इस वैक्सीन का निर्माण करना चाह रहे थे। इसलिए वह ब्रिटेन चले गए, ताकि वहां इसकी संभावना तलाशी जा सके। हालांकि इस दौरान पूनावाला ने मीडिया से बातचीत में अपने आरोपों को सही ठहराया। उन्होंने कहा कि  वैक्सीन की सप्लाई को लेकर देश के कुछ ताकतवर लोगों ने उनके साथ गलत तरीके से बात की है।

ब्रिटेन जाने वालों की संख्या बढ़ी

इस बीच पता तो यह भी चला है कि बहुत से भारतीय अमीर ब्रिटेन की नागरिकता लेने के लिए इंटरनेट पर काफी संख्या में सर्च कर रहे हैं। रेसीडेंस और सिटीजन योजना के तहत काम करने वाली कंपनी के अनुसार साल 2019 में करीब 7000 लोगों ने भारत छोड़ा है। 2020 में भी साल 2019 की तुलना में काफी अधिक संख्या में ब्रिटेन की नागरिकता लेने के सवाल पूछे हैं। संभावना है कि बहुत से भारतीय लोग ब्रिटेन जाने की प्लानिंग बना रहे हैं। इसका मूल कारण देश में बढ़ रहे मामलों को भी आधार माना जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

STAY CONNECTED

259,756FansLike
23,667FollowersFollow
5,345FollowersFollow
10,000SubscribersSubscribe

Latest News

स्कूल टीचर के अतरंगी डांस ने जीता यूजर्स का दिल, करोड़ों यूजर्स को पसंद आ रहा ये वीडियो

सोशल मीडिया पर आए दिन कोई न कोई मजेदार वीडियो वायरल होती ही रहती है। कभी कभी तो वीडियोज़...

More Articles Like This

Citymail India